खास खबरछत्तीसगढ़

बंद पर भाजपाइयों का बवाल :शराब दुकान से बिक रही थी बोतलें, BJP नेताओं ने शटर पर मारी लात, बुलानी पड़ी पुलिस

रायपुर में सुबह से ही छत्तीसगढ़ बंद का असर देखने को मिला। तमाम बाजार और दुकानें बंद रहीं। मगर इस बीच टिकरापारा इलाके में बवाल हो गया, भाजपा कार्यकर्ता और नेता शराब दुकान के कर्मचारियों से भिड़ गए। बंद के आह्वान के बावजूद शराब दुकान से शराब बेची जा रही थी। शटर खोलकर दुकान चलाई जा रही थी, यह देखकर भाजपाई नाराज हो गए।

संजय श्रीवास्तव युवा मोर्चा के अध्यक्ष अमित साहू के साथ कई नेता नेताओं ने दुकान को घेर लिया। शटर पर लात मारी। दुकान के कर्मचारियों के साथ नेताओं की बहस शुरू हो गई। हालात बिगड़ते देख फौरन मौके पर पुलिस बुलाई गई।

भाजपा नेताओं को देख कर्मचारी दुकान के भीतर छिपने की कोशिश कर रहे थे। नेताओं ने शटर गिराकर दुकान को बंद भी करवाया। मौके पर पहुंची पुलिस से नेताओं ने कहा कि जानबूझकर ये दुकान खाेली गई, जबकि सभी जगहों पर बंद की सूचना है, व्यापारियों ने दुकानें नहीं खोलीं। पुलिस की मौजूदगी में दुकान को बंद कराया गया। यह चेताते हुए कुछ देर बाद भाजपाई लौटे कि दुकानें खुलीं तो माहौल खराब होगा।

c m baghel
c m baghel

रायपुर के राजेंद्र नगर इलाके में दुकानों को बंद करवाने पहुंचे भाजपा नेता खुद मुश्किल में पड़ गए। राजेंद्र नगर इलाके के एक मॉल की इमारत में दुकानें बंद करवाने के दौरान लिफ्ट में घुसे भाजपाई लिफ्ट में ही फंस गए। कुछ देर तक लिफ्ट अटकी रही इसके बाद वह निकाला गया।

2 जुलाई शनिवार को राजस्थान के उदयपुर में कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में छत्तीसगढ़ बंद करवाया गया। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल की ओर से बुलाए गए इस बंद का मिलाजुला असर देखने को मिला। रायपुर, बिलासपुर, दुर्ग, जांजगीर-चांपा, कवर्धा, राजनांदगांव, रायगढ़, जशपुर, गौरेला-पेंड्रा-मरवाही सहित प्रदेश के सभी जिलों में दुकानें-बाजार, स्कूल-कॉलेज सब बंद रहे। कोरबा में इस दौरान दुकानदारों और प्रदर्शनकारियों के बीच विवाद भी हुआ। दोपहर बाद रायपुर में कुछ दुकानें व्यापारियों ने खोलनी शुरू कीं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close