खास खबरछत्तीसगढ़

5 साल की गारंटी थी, 10 साल में 14.5 करोड़ खर्च कर बनी 8 किमी लंबी सड़क; मरवाही उपचुनाव से पहले मुख्यमंत्री ने किया था शिलान्यास

गौरेला-पेंड्रा-मरवाही (GPM) जिले में 10 सालों का लंबा इंतजार बारिश में उखड़ गया। बसंतपुर से पेंड्रा के बीच बनाई गई 8 किमी की सड़क एक महीना भी नहीं टिक सकी। मरवाही उपचुनाव से ठीक पहले इस सड़क को सरकार ने तोहफे के रूप में लोगों को दिया था। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल खुद 14.5 करोड़ की लागत से बनी सड़क का भूमिपूजन और शिलान्यास किया था। अब लोक निर्माण विभाग (PWD) का निर्माण एक बार फिर सवालों में है।

सड़क जब बनी तो उसके परफॉर्मेंस पर 5 साल की गारंटी दी गई, लेकिन पहले मानसून ने ही इसकी रंगत बिगाड़ दी। सड़क जगह-जगह से उखड़ गई। जून में बारिश शुरू होने से पहले 8 किमी की इस सड़क में महज 4 किमी ही डामरीकरण का कार्य पूरा किया गया था। PWD ने इसका ठेका अनिल बिल्डकॉन को दिया था। उसने ही काम पूरा कराया। अब लोगों का गुस्सा ठेकेदार पर भी भड़कने लगा है। टूटी सड़कों पर आए दिन हादसे हो रहे हैं।

ठेकेदार ने दुर्गा चौक पेंड्रा से अमरपुर तक सीसी रोड भी बनाई है। निर्माण से पहले दुर्गा चौक के पास बसाहट वाले इलाके में खुदाई कर मूल स्वरूप की ऊंचाई की सड़क बनानी थी। खुदाई के लिए 8 लाख रुपए स्वीकृत है, लेकिन बिना मानकों के सीसी रोड बना दी गई। राजमार्ग में एक फीट ऊंची सड़क जोड़ दी। बिजली के खंभे और ट्रांसफॉर्मर हटवाकर सीधी सड़क बनानी थी। उसके लिए 22 लाख रुपए स्वीकृत हैं, पर उसे हटाया नहीं और सड़क तिरछी कर दी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close