छत्तीसगढ़ब्रेकिंग

बर्ड फ्लू को लेकर छत्तीसगढ़ में भी अलर्ट जारी

छत्तीसगढ़,, रायपुर   …..  बर्ड फ्लू को लेकर छत्तीसगढ़ में भी अलर्ट जारी कर दिया गया है,

पशुपालन मंत्री रविंद्र चौबे ने जानकारी देते हुए बताया कि पशुपालन विभाग ने जिला अधिकारियों को इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए है।

कि पक्षियों की मौत पर सम्बंधित जगहों में सावधानी बरती जाए और सभी पोल्ट्री फार्म में लगातार निगरानी बनाए रखें।

बता दें कि पड़ोसी राज्य मध्यप्रदेश सहित देश के पांच राज्यों में बर्ड फ्लू की पुष्टि हो गई है, मध्यप्रदेश, राजस्थान, हिमाचल प्रदेश, केरल, बिहार, हरियाणा में बर्ड फ्लू के कारण पक्षियों की मौत की खबरें हैं।

नई दिल्ली। देश में बर्ड फ्लू के मामले लगातार बढ़ते जा रहे हैं और कई राज्यों में यह पैर पसार चुका है।

इस बीच पशुपालन, डेयरी और मत्स्य पालन मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि बर्ड फ्लू का कोई इलाज नहीं है, ऐसे में सभी राज्य सरकारों को सावधानी रखनी होगी।

साथ ही संजीव बालियान ने यह भी कहा कि बर्ड फ्लू पक्षियों से इंसानों में भी फैल सकता है, लेकिन अभी ऐसा कोई मामला सामने नहीं आया है। केंद्रीय मंत्री संजीव बालियान ने कहा कि फिलहाल 5 राज्यों हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और केरल में बर्ड फ्लू के मामले मिले हैं।

 

कोरोना महामारी के बाद अब देश में बर्ड प्लू का खतरा लगातार बढ़ते जा रहा है। हरियाणा, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश, केरल सहित कई राज्यों में लगातार पक्षियों की मौत के मामले सामने आ रहे हैं।

इस बीच केंद्र सरकार ने सभी राज्यों से लगातार अपडेट लेने और देने के लिए कंट्रोल रूम स्थापित कर दिया है।

साथ ही मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी आज बर्ड फ्लू फैलने के बाद सभी संबंधित विभागों की बैठक बुलाई है।

राज्य में दक्षिण भारत के राज्यों से मुर्गे के व्यापार पर कुछ समय के लिए रोक लगा दी गई है। गौरतलब है कि देश के कई राज्यों में बर्ड फ्लू के H5N8 स्ट्रेन फैलने की चेतावनी जारी की गई है और मरे हुए हजारों पक्षियों के नमूने जांच के लिए भेजे गए हैं।

राजस्थान, मध्य प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और केरल में बर्ड फ्लू की पुष्टि के बाद सतर्कता रखी जा रही है।

गौरतलब है कि मध्य प्रदेश के इंदौर में एक हफ्ते पहले बर्ड फ्लू की पुष्टि होने के बाद से 155 कौवों की मौत की मौत हो गई थी, साथ ही राजस्थान के झालावाड़ जिले के साथथ कोटा और बारां में पक्षियों को संक्रमित पाया गया है।

हालांकि अभी तक महाराष्ट्र में कोई मामला दर्ज नहीं किया गया है, जो मध्य प्रदेश के साथ सीमा साझा करता है। लेकिन महाराष्ट्र में भी सभी विभागों को अलर्ट कर दिया गया है।

हरियाणा में 4 लाख से अधिक मुर्गियों की मौत

केरल में फ्लू के कारण लगभग 1,700 बत्तखों की मौत हो गई। साथ ही हरियाणा के पंचकुला जिले में पिछले 10 दिनों में 4 लाख से अधिक मुर्गियों की मौत हो गई है।

हरियाणा के पशुपालन और डेयरी विभाग ने कहा है कि इन पक्षियों की मौत का कारण एवियन इन्फ्लुएंजा है या नहीं? एक आधिकारिक प्रवक्ता के अनुसार इनके नमूने जालंधर में रिजनल डिजीज डायग्नोस्टिकलेब्रोटेरी को भेजे गए हैं। रिपोर्ट का अभी इंतजार है।

बर्ड के खतरे को देखते हुए केरल में हजारों मुर्गियों और बत्तखों को मारना शुरू कर दिया है।

दक्षिण भारतीय राज्यों कर्नाटक और तमिलनाडु ने भी अपने इलाकों में निगरानी बढ़ा दी है। केरल में अलाप्पुझा और कोट्टायम में प्रभावित क्षेत्रों के एक-एक किलोमीटर के दायरे में पक्षियों को मारने का ऑपरेशन शुरू कर दिया गया है।

केरल के इन दो जिलों में भोपाल में नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ हाई सिक्योरिटी एनिमल डिसीज में नमूनों के परिणामों की पुष्टि हुई।

इधर हिमाचल मृत प्रवासी पक्षी बर्ड फ्लू से संक्रमित पाए गए थे।

प्रदेश में अब तक 2,700 प्रवासी पक्षी इस झील क्षेत्र में मृत पाए गए हैं और इनके नमूने परीक्षण के लिए भेजे गए हैं। हिमाचल के कांगड़ा जिले के पोंग डैम झील अभयारण्य के आसपास के क्षेत्र का अधिकारियों ने सर्वेक्षण किया है ताकि वहां पर घरेलू पक्षियों में फ्लू के प्रसार की जांच की जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close
Close